#DaadiSeMaafiMangKangana

Why Is #DaadiSeMaafiMangKangana Trending On Twitter || What Is Krishi Bill 2020

जानिए #DaadiSeMaafiMangKangana क्यों हो रहा है Twitter पर Trend

क्या आपको पता है की #DaadiSeMaafiMangKangana इस टाइम पर ट्विटर में ट्रेंड क्यों हो रहा है अगर अपने इस समय कुछ दिनों से अगर अख़बार या न्यूज़ नहीं देखा होगा तब आपको इन सबकी जानकारी नहीं होगी जब से सरकार द्वारा एक नया कृषि कानूनों लागू किया गया है तब से हमारे किसान लोग बहुत परेशान है क्युकी ये कानून उनको काफी हानिकारक लग रहा है

– इसी वजह से सभी किसान ने सोचा की क्यों ना इसके खिलाफ कोई आंदोलन किया जाये जिसके बाद नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के लिए सभी किसान एक साथ मिल कर दिल्ली चलो आंदोलन की गुहार लगा रहे है पर इन सबको दिल्ली में जाने के लिए रोका जा रहा है ये सभी ये सभी किसान पंजाब,हरियाणा,राजस्थान, से सीधा दिल्ली आ रहे थे

– जिनको रोकने के लिए सरकार ने बहुत सी पुलिस का इंतेज़ाम किया हुआ है और फिर भी ये सब किसान मानने को तैयार नहीं है जिसकी वजह से सरकार को सख्त कदम उठाने पड़ रहे है और इन सब किसानों के ऊपर कई तरह के प्रहार किये जा रहे है ताकि वो सब वापस लौट जाये इन सबको रस्ते से हटाने के लिए आँसू के गोले , पानी इन सब जैसी चीज़ो का इस्तेमाल सरकार के द्वारा किया जा रहा है

krishi kanoon 2020 kya hai in hindi
krishi kanoon 2020 kya hai in hindi

– पर ये सभी किसान अपने आंदोलन पर अड़े हुए है इसी आंदोलन में एक बूढी दादी भी है जो डंडा ले कर इस आंदोलन का हिस्सा बनी हुए है और वो इस किसान आंदोलन में साथ दे रही है जिस पर kangana ranaut ने कमेंट कर दिया और वो कमेंट इनको भारी पद गया जिसकी वजह से बहुत लोग अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट करके कंगना का मज़ाक बना रहे है

– कुछ तो सपोर्ट कर रहे है कंगना ने बोला है की टाइप की दादी 100 रुपये में मिल जाती है जिसकी वजह से लोगो ने #DaadiSeMaafiMangKangana के नाम का हैशटैग अभी भी ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है इन सबने क्या बोला है और क्या कमेंट किया है अपनी twitter अकाउंट में क्या tweet किया है हम आपको सब दिखाते है

#DaadiSeMaafiMangKangana
#DaadiSeMaafiMangKangana
#DaadiSeMaafiMangKangana
#DaadiSeMaafiMangKangana

क्या है नया कृषि कानून आंदोलन 2020

– आपको बता दे सरकार ने एक न्य कृषि कानून पास किया है जिसकी वजह से सभी किसान नाराज़ है और वो सब मिल कर एक आंदोलन कर रहे है वो सब दिल्ली चलो का नैरा भी लगा रहे है और इस सभी लोगो को रोकने के लिए सरकार ने आँसू के गोले भी बरसाए है और पानी का फौवाहरा भी छोड़ा है पर वो सभी किसान नहीं मान रहे

– वो सब अभी भी आंदोलन पर अड़े हुए है तो आपको बता दू की सरकार ने कुछ नये कृषि कानून पास किया है और कुछ बदलाव किया है जिसकी वजह से सभी किसान नाराज़ है आपको बता दे सरकार ने तीन नये कानून लागू किया है आपको बता दे वो कौन कौन से है

1- किसान उपज व्यापार एवं वाणिज्य विधेयक 2020

– सरकार का कहना है की ये कानून किसान के लिए बाउट लाभदायक है क्युकी इस कानून के जरिये अब सभी किसान एपीएमसी मंडियों के बाहर भी अपनी उपज को अच्छे दामों पर बेच सकेंगे जिसकी वजह से उन सभी किसानो को बेहतर दाम प्राप्त कर सकेंगे पर सरकार ने इस कानून के जरिये एक सीमा बांध दी है की APMC वाले अनाज अब मंडियों को उन सभी बिलों में शामिल नहीं किया गया हैपर सरकार ये बात बोल चुकी है की APMC खत्म नहीं किया जाएगा.

2- किसान मूल्य आश्वासन अनुबंध एवं कृषि सेवाएं विधेयक

– इस कृषि कानून में अनुबंध खेती यानी कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग की इजाजत देना है इसमें पूंजीपति या ठेकेदार आपकी जो जमीन है वो आपसे किसी निश्चित रूपये में लेगा और उन सब में फसल का उद्पदन करके बाजार में बेचेगा जिसकी वजह से किसान गुस्सा है उनका बोलना है की यही सब जितनी बड़ी कंपनी है वो सब हम सबका लाभ उठाने की कोशिश करेंगी और छोटे किसानों के साथ कभी भी समझौता नहीं करेंगी

3- आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक 2020

– इस कानून में अनाज, दालों, आलू, प्याज और खाद्य तिलहन जैसी खाने वाले पदार्थो को आवश्यक वस्तु की सूची से बाहर करने करने को बोला गया है जिसमे युद्ध व प्राकृतिक आपड़े के अलावा इन सभी की भंडारण की कोई सीमा नहीं रह जाएगी जिसका विरोध किसान कर रहा है और उनका कहना है की अगर ऐसा होगा तब कैसे पता चलेगा सरकार को की किसके पास कितना सामान है और वो कहाँ पर है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top